अपने हसीन होंठों को किसी परदे में छुपा लिया करो, हम गुस्ताख लोग हैं

अपने हसीन
अपने हसीन होंठों को किसी परदे में छुपा लिया करो,
हम गुस्ताख लोग हैं नज़रों से चूम लिया करते हैं……..!!!

कल रात मैंने भी उसे तेरी तस्वीर दिखा दी……..!!!

रह भी लेते है और रहा भी नही जाता…..!!!

कहता है की तु अब कुछ माँगता नहीं है…..!!!

हर खवाब मे बुलाया है तुझे,

क्यू न करे याद तुझ को,

जब खुदा ने हमारे लिए बनाया है तुझे……..!!!

रात की नींद में ख्वाब उनका था,

कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा,

मर जायंगे तुम्हारे बिना ये जबाब उनका था……!!!

कौन होश में रहता है तुझे देखने के बाद…….!!!

सुना है कि आपके दिदार के लिए तो आइना भी तरसता है……!!!

लो अब गिन लो… ये बूँदें बारिश की……!!!

जाने क्या हस्र होगा जब वो खुलकर मुस्कुरायेंगे…….!!!

वो अपनी जुल्फें न संभाल पाए और हम खुद को……!!!

मुझे पसंद है अपने आप को तेरी आँखों में देखना……!!!

मगर… लोग उसे रात भर देखें ये मुझे गवारा नहीं…..!!!

अपने हसीन होंठों को किसी परदे में छुपा लिया करो, हम गुस्ताख लोग हैं

कौन होश में रहता है तुझे देखने के बाद…….!!!

सुना है कि